1. Home
  2. Shayari
  3. Yaadein Shayari
  4. Yaadon Me Raat Gujar Jati Hai

Yaadon Me Raat Gujar Jati Hai

Jiski Yaadon Me Raat Gujar Jati Hai,
Jiski Liye Aankhen Bhaar Aati Hai,
Mushkil Hai Usko Ye Keh Pana,
Tere Bin Dhadkan Bhi Tham Jati Hai.

जिसकी यादों में रात गुजर जाती है,
जिसकी लिए आँखें भर आती है,
मुश्किल है उसको ये कह पाना,
तेरे बिन धड़कन भी थम जाती है।

Neend Aankhon Me Nahi Wo Khwaab Kho Gaye,
Tanha Hi The Kuchh Tere Bin Hum Ho Gaye,
Dil Kuchh Tadap Utha Juban Bhi Ladkhadai,
Teri Yaad Me Do Aansu Chupke Se Bah Gaye.

नींद आँखों में नहीं वो ख्वाब खो गए,
तन्हा ही थे, कुछ तेरे बिन हम हो गए,
दिल कुछ तड़प उठा, ज़ुबान भी लड़खड़ाई,
तेरी याद में दो आँसू चुपके से बह गए।

Kitni Jaldi Ye Mulakaat Gujar Jaati Hai,
Pyaas Bujhti Nahi Barsaat Gujar Jaati Hai,
Apni Yaadon Se Kah Do Yun Na Sataya Kare,
Neend Aati Nahi Aur Raat Gujar Jaati Hai.

कितनी जल्दी ये मुलाकात गुजर जाती है,
प्यास बुझती नहीं ये बरसात गुजर जाती है,
अपनी यादों से कह दो यूँ न सताया करे,
नींद आती नहीं और रात गुजर जाती है।

-Advertisement-

-Advertisement-

You may also like