1. Home
  2. Shayari
  3. Bollywood Shayari

Bollywood Shayari

Shayari from Movie : Kabhie-Kabhie

Kabhi Kabhi Mere Dil Me Khayal Aata Hai,
Ke Zindagi Tumhare Julfo Ki
Narm Chhanv Me Gujarne Paati,
To Shadab Ho Bhi Sakti Thi...

कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है,
के ज़िन्दगी तुम्हारे जुल्फों की 
नरम छाव में गुजरने पाती,
तो सादाब हो भी सकती थी...

Ye Ranjo-Gam Ki Syaahi
Jo Mere Zeest Ka Muqaddar Hai,
Tere Nazar Ke Shuao Mein
Kho Bhi Sakti Thi...

ये रंजो गम की स्याही
जो मेरे जीस्त का मुकद्दर है,
तेरे नजर के शुओं में
खो भी सकती थी...

Magar Ab Ye Aalam Hai Ki Tu Nahi
Tera Gam Teri Justju Bhi Nahi,
Gujar Rahi Hai Kuchh Isa Tarah Se Zindagi Jaise
Ise Kisi Ke Sahare Ki Aarju Bhi Nahi.

मगर अब ये आलम है कि तू नहीं
तेरा गम तेरी जुस्तजू भी नहीं,
गुजर रही है कुछ इस तरह से ज़िन्दगी जैसे 
इसे किसी के सहारे की आरजू नहीं। 

-Advertisement-

Shayari from Movie : Tum

Tum Milo Na Milo, Na Milne Ka Gam Nahi,
Tum Paas Se Hi Gujar Jaao, Milne Se Kam Nahi.
Maana Ke Tumhe Hamari Kadar Nahi,
Magar Unse Puchho Jinhe Haasil Hum Nahi.

तुम मिलो न मिलो, न मिलने का गम नहीं,
तुम पास से ही गुजर जाओ, मिलने से कम नहीं ।
माना के तुम्हे हमारी कद्र नहीं,
मगर उनसे पूछो जिन्हें हासिल हम नहीं।

Shayari from Movie : Dil Ka Khel

Jisne Hamko Chaha Use Hum Chah Naa Sake.
Jisko Hamne Chaha Use Hum Paa Naa Sake.
Ye Soch Lo Ke Dil Tutne Ka Khel Hai Mohabbat,
Kisi Ka Toda Aur Apna Bacha Naa Sake.

जिसने हमको चाहा उसे हम चाह न सके,
जिसको हमने चाहा उसे हम पा न सके,
ये सोच लो के दिल टूटने का खेल है मोहब्बत,
किसी का तोड़ा और अपना बचा न सके।

-Advertisement-

Shayari from Movie : Diljale

Aarzoo Jhooth Hai, Aarzoo Ka Fareb Khana Nahi,
Khush Jo Rehna Ho Zindagi Me Tumhein,
Dil Kabhi Kisi Se Lagana Nahi.

आरज़ू झूठ है, आरज़ू का फरेब खाना नहीं,
खुश जो रहना हो जिंदगी में तुम्हे,
दिल कभी किसी से लगाना नहीं।

Ek Pal Me Jo Aakar Gujar Jaye,
Ye Hawa Ka Wo Jhoka Hai Aur Kuchh Nahi,
Pyar Kehti Hai Duniya Jise,
Ek Rangeen Dhokha Hai Aur Kuchh Nahi.

एक पल में आकर गुजर जाये,
ये हवा का वो झोका है ओर कुछ नहीं,
प्यार कहती है दुनिया जिसे,
एक रंगीन धोका है और कुछ नहीं।

Kyon Banaati Ho Tum Ret Ke Mahal,
Jise Khud Hi Tod Dalogi Tum,
Aaj Kehti Ho Iss Diljale Se Pyar Hai Tumhe,
Kal Ko Mera Naam Tak Bhool Jayogi Tum.

क्यों बनाती हो तुम रेत के महल,
जिसे खुद ही तोड़ डालोगी तुम,
आज कहती हो इस दिलजले से प्यार है तुम्हे,
कल को मेरा नाम तक भूल जाओगी तुम।

-Advertisement-

Shayari from Movie : Jab Tak Hai Jaan

Teri Aankhon Ki Namkeen Mastiyan
Teri Hansi Ki Be Parwaah Gustakhiyan
Teri Zulfon Ki Lehrati Angdaiyaan
Nahi Bhoolunga Main...
Jab Tak Hai Jaan, Jab Tak Hai Jaan

Tera Haath Se Haath Chhodna
Tera Saayon Ka Rukh Modna
Tera Palat Ke Phir Na Dekhna
Nahin Maaf Karoonga Main...
Jab Tak Hai Jaan, Jab Tak Hai Jaan

Baarishon Me Be-dhadak Tere Nachne Se
Baat Baat Pe Tere Bewajah Ruthne Se
Choti Choti Teri Bachkaani Badmashiyon Se
Mohabbath Karoonga Main...
Jab Tak Hai Jaan, Jab Tak Hai Jaan

Tere Jhoothe Kasme-Vaadon Se
Tere Jalte Sulagte Khwabo Se
Teri Beraham Duaon Se
Nafrat Karoonga Main...
Jab Tak Hai Jaan, Jab Tak Hai Jaan.

तेरी आँखों की नमकीन मस्तियाँ 
तेरी हंसी की बेपरवा गुस्ताखियाँ 
तेरी जुल्फों की लहराती अंगडाइयां 
नहीं भूलूंगा मैं...
जब तक है जान, जब तक है जान।
 
तेरा हाथ से हाथ छोड़ना
तेरा सायों का रुख मोड़ना 
तेरा पलट के फिर न देखना 
नहीं माफ़ करूंगा  मैं...
जब तक है जान, जब तक है जान।
 
बारिशों में  बेधड़क तेरे  नाचने से
बात-बात पर तेरे बेवजह रूठने से 
छोटी-छोटी तेरी बच्कानियों से 
मोहब्बत करूंगा मैं...
जब तक है जान, जब तक है जान।
 
तेरे झूठे कसमों-वादों से
तेरे जलते-सुलगते ख्वाबों से
तेरी बेरहम दुआओं से
नफ़रत करूँगा मैं...
जब तक है जान, जब तक है जान।
Prev12