1. Home
  2. Shayari
  3. Deshbhakti Shayari
  4. Page-2

Deshbhakti Shayari

Dostana Itna BarKarar Rakho

Dostana Itna BarKarar Rakho Ki,
Majhab Beech Mein Na Aaye Kabhi,
Tum Usey Mandir Tak Chhod Do,
Woh Tumhein Masjid Chhod Jaye Kabhi.

दोस्ताना इतना बरकरार रखो कि,
मजहब बीच में न आये कभी,
तुम उसे मंदिर तक छोड़ दो ,
वो तुम्हें मस्जिद छोड़ आये कभी।

-Advertisement-

Mere Ghar Ramzan Ho

Aaj Fir Mujhe Iss Baat Ka Gumaan Ho,
Masjid Me Bhajan Mandir Me Azaan Ho,
Khoon Ka Rang Phir Ek Jaisa Ho,
Tum Manaao Diwali Mere Ghar Ramzan Ho.

आज मुझे फिर इस बात का गुमान हो,
मस्जिद में भजन मंदिरों में अज़ान हो,
खून का रंग फिर एक जैसा हो,
तुम मनाओ दिवाली मेरे घर रमजान हो।

Main Muslim Hoon

Main Muslim Hoon, Tu Hindu Hai, Hain Dono Insaan,
Laa Main Teri Geeta Parh Lun, Tu Parh Le Quraan,
Apne Toh Dil Mein Hai Dost Bas Ek Hi Armaan,
Ek Thali Mein Khana Khaye Saara Hindustan.

मैं मुस्लिम हूँ, तू हिन्दू है, हैं दोनों इंसान,
ला मैं तेरी गीता पढ़ लूँ, तू पढ ले कुरान,
अपने तो दिल में है दोस्त, बस एक ही अरमान,
एक थाली में खाना खाये सारा हिन्दुस्तान।

-Advertisement-

Mera Bharat Mahan

Dil Humare Ek Hain Ek Hi Hai Humari Jaan,
Hindustan Humara Hai Hum Hai Iski Shaan,
Jaan Luta Denge Watan Pe Ho Jayenge Qurban
Isliye Hum Kehte Hain Mera Bharat Mahan.

दिल हमारे एक हैं एक ही है हमारी जान,
हिंदुस्तान हमारा है हम हैं इसकी शान,
जान लुटा देंगे वतन पे हो जायेंगे कुर्बान,
इसलिए हम कहते हैं मेरा भारत महान।

Mera Bharat Mahan - Deshbakti Shayari

-Advertisement-

Chirago Ko Jalaye Rakhna

Bas Yeh Baat Hawaao Ko Bataye Rakhna,
Roshni Hogi Chirago Ko Jalaye Rakhna,
Lahu Dekar Jiski Hifazat Ki Shaheedon Ne,
Uss Tirange Ko Sada Dil Me Basaye Rakhna.

बस ये बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने,
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना।