1. Home
  2. Shayari
  3. Deshbhakti Shayari
  4. Page-4

Deshbhakti Shayari

Tiranga Neele Asmaan Par

Lehrayega Tiranga Ab Neele Asmaan Par,
Bharat Ka Naam Hoga Sab Ki Jubaan Par,
Le Lenge Uski Jaan Ya De Denge Apni Jaan,
Koyi Jo Uthayega Aankh Hamare Hindustan Par.

लहराएगा तिरंगा अब नीले आसमान पर,
भारत का नाम होगा सबकी जुबान पर,
ले लेंगे उसकी जान या दे देंगे अपनी जान,
कोई जो उठाएगा आँख हमारे हिन्दुस्तान पर।

-Advertisement-

Kaale-Gore Ka Bhed Nahin

Kaale-Gore Ka Bhed Nahin,
Har Dil Se Hamara Naata Hai,
Kuchh Aur Na Aata Ho Humko,
Hame Pyar Nibhana Aata Hai.

काले गोरे का भेद नहीं,
हर दिल से हमारा नाता है,
कुछ और न आता हो हमको,
हमें प्यार निभाना आता है।

Ai Watan Mere

Hum Apne Khoon Se Likhein Kahani Ai Watan Mere,
Kare Qurbaan Hans Kar Ye Jawani Ai Watan Mere,
Dili Khwahish Nahi Koyi Magar Ye iltiza Bas Hai,
Humare Hausle Paa Jayein Maani Ai Watan Mere.

हम अपने खून से लिखेंगे कहानी ऐ वतन मेरे,
करे कुर्वान हंस कर ये जवानी ऐ वतन मेरे,
दिली ख्वाइश नहीं कोई मगर ये इल्तजा बस है,
हमारे हौसले पा जाये मानी ऐ वतन मेरे।

-Advertisement-

Ke Ye Hindustan Hai

Goonje Kahin Par Shankh, Kahin Pe Ajaan Hai,
Bible Hai, Granth Sahab Hai, Geeta Ka Gyan Hai,
Duniya Me Kahin Aur Ye Manzar Naseeb Nahi,
Dikha Do Duniya Ko Ke Ye Hindustan Hai.

गूंजे कहीं पर शंख , कहीं पे अजान है,
बाइबिल है, ग्रन्थ सहाब है,गीता का ज्ञान है,
दुनिया में कहीं और ये मंजर नसीब नहीं,
दिखा दो  दुनिया को के ये हिन्दुस्तान है।

-Advertisement-

Lehraao Tiranga Pyara

Ai Mere Watan Ke Logo
Tum Khoob Laga Lo Naara,
Ye Shubh Din Hai Hum Sab Ka
Lehraao Tiranga Pyara,
Par Mat Bhoolo Seema Par
Veero Ne Pran Ganwaye,
Kuchh Yaad Unhen Bhi Kar Lo
Jo Laut Ke Phir Na Aaye.

ऐ मेरे वतन के लोगो
तुम खूब लगा लो नारा,
ये शुभ दिन है हम सब का
लहराओ तिरंगा प्यारा,
पर मत भूलो सीमा पर
वीरों ने प्राण गवाए,
कुछ याद उन्हें भी कर लो
जो लौट के घर ना आये।

1234Next