1. Home
  2. Shayari
  3. Dosti Shayari
  4. Dost Aap Jaise

Dost Aap Jaise

Friendship Shayari Dost Aap Jaise

Diye To Aandhi Me Bhi Jala Karte Hain,
Gulaab To Kaanto Me Hi Khila Karte Hain,
Khush-Naseeb Bahut Hoti Hai Woh Shaam,
Jisme Dost Aap Jaise Mila Karte Hain.

दिए तो आंधी में भी जला करते हैं,
गुलाब तो काँटों में ही खिला करते हैं,
खुशनसीब बहुत होती है वो शाम,
जिसमे दोस्त आप जैसे मिला करते हैं।

-Advertisement-

-Advertisement-

You may also like