1. Home
  2. Shayari
  3. Masoom Shayari

Masoom Shayari

Masoom Chehre Ki Chamak

Dhokha Deti Hai Aksar Masoom Chehre Ki Chamak,
Har Kanch Ke Tukde Ko Heera Nahin Kahte. 

धोखा देती है अक्सर मासूम चेहरे की चमक,
हर काँच के टुकड़े को हीरा नहीं कहते।

-Advertisement-

मासूम निगाहों को...

मासूम निगाहों को मुस्कुराते देखा है
मैंने अपनी मोहब्बत को तुम्हे दिल में छुपाते देखा है।

बादलों में जो छिप जाता है वो चाँद,
मैंने रोज़ उसे तुम्हारे दुपट्टे को सजाते देखा है।

कुछ इस तरह तुम्हे खुदको आज़माते देखा है,
मेरी मौजूदगी में तुम्हे पलके झुकाये देखा है।

वो जो गुज़रती है तुम्हारे खिड़की से नीचे सड़क,
अक्सर तुम्हे उस पर पलकें बिछाये देखा है।

क्यूं ना रौशन हो मेरी ज़िन्दगी तुम्हारे होने से,
मैंने हर सजदे में तुम्हे आंसू बहाते देखा है।

जब पूछती है मुझसे दुनिया तुम्हारी पहचान,
मैंने परदे में तुम्हे खुद को छुपाते देखा है।

मासूम निगाहों को मुस्कुराते देखा है,
मैंने अपनी मोहब्बत को तुम्हे दिल में छुपाते देखा है।

Msoom Teri Ankhon Me

Msoom Teri Ankhon Me
Mera Dil Kho Jata Hai,
Ja Jab Tujhe Dekh Lun
Mera Jivan Mukammal Ho Jata Hai,
Na Aye Tu Jo Mujhko Najar
Tere Deedar Ke Liye
Mera Dil Taras Jata Hai.

मासूम तेरी आँखों में
मेरा दिल खो जाता है,
जब जब तुझे देख लू
मेरा जीवन मुकम्मल हो जाता है,
न आए तू जो मुझको नज़र
तेरे दीदार के लिए
मेरा दिल तरस जाता है।

beautiful couple

Na Jane Kya Masoomiyat Hai
Tere Chehre Par...
Tere Samne Aane Se Jyada,
Tujhe Chhupkar Dekhna Achha Lagta Hai.

न जाने क्या मासूमियत है,
तेरे चेहरे पर...
तेरे सामने आने से ज़्यादा,
तुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है।

-Advertisement-

Masoom Nigahe

Kabhi Num Na Ho Jaye Ye Masoom Nigahe,
Meri Aarzu Hai Sada Muskuraye,
Gum Ke Saye Rahe Hum Tak Hi,
Tere Aashiyane Me Hamesha Khushion Ki Bahare Aaye.

कभी नम न हो जाये ये मासूम निगाहें,
मेरी आरज़ू है सदा मुस्कराये,
ग़म के साये रहे हम तक ही ,
तेरे आशिया मे खुशियों की बहारे आये।

Masoom Shayari - Masoom Nigahein

-Advertisement-

Kitna Masoom Tha

Kitna Masoom Tha Unka Baat Karne Ka Lahja,
Dheere Se Jaan Kah Ke... Bejaan Kar Jana...!

कितना मासूम था उनका बात करने का लहज़ा,
धीरे से जान कह के… बेजान कर दिया ……!

Kitna Masoom Tha - Masoom Shayari

Prev12