1. Home
  2. Shayari
  3. Khata Shayari

Khata Shayari

Mohabbat Ki Khata

Andaz-E-Mohabbat Tumahari Ek Ada Hai,
Door Ho Humse Tumhari Khata Hai,
Dil Me Basi Hai Ek Pyari Si Tasveer Tumhari,
Jiske Neeche I Miss You Likha Hai.

अंदाज-ऐ-मोहब्बत तुम्हारी एक अदा है,
दूर हो हमसे तुम्हारी खता है,
दिल में बसी है एक प्यारी सी तस्वीर तुम्हारी,
जिसके नीचे 'आई मिस यू' लिखा है।

-Advertisement-

Sanam Ki Khata

Kiya Ishq Ne Mera Haal Kuch Aisa,
Na Apni Khabar Na Hi Dil Ka Pata Hai,
Kasoorwar Thi Meri Ye Daur-E-Jabani,
Main Samajhta Raha Sanam Ki Khata Hai.

किया इश्क़ ने मेरा हाल कुछ ऐसा,
ना अपनी खबर ना ही दिल का पता है,
कसूरवार थी मेरी ये दौर-ए-जवानी,
मैं समझता रहा सनम की खता है।

Khata Ko Teri Bhula Diya

Har Bhool Teri Maaf Ki Har Khata Ko Teri Bhula Diya,
Gham Hai Ki, Mere Pyar Ka Tune Bewafa Banke Sila Diya.

हर भूल तेरी माफ़ की हर खता को तेरी भुला दिया,
गम है कि, मेरे प्यार का तूने बेवफा बनके सिला दिया।

-Advertisement-

Khata Uski Thi

Apne Usool Kabhi Yun Bhi Todne Pade,
Khata Uski Thi Hath Mujhe Jodne Pade.

अपने उसूल कभी यूँ भी तोड़ने पड़े,
खता उसकी थी हाथ मुझे जोड़ने पड़े।

-Advertisement-

Yaad Karne Ki Khata

Kuch To Baat Hai Teri Fitrat Me Ai Sanam,
Warna Tujhko Yaad Karne Ki Khata Hum Bar Bar Nahin Karte.

कुछ तो बात है तेरी फितरत में ऐ सनम,
वरना तुझ को याद करने की खता हम बार-बार न करते।

Prev1234